शहर में खास

प्रथम व्यापार महासंघ का शुभारंभ, व्यापारियो ने दी संगठन बनाने की सहमति, संगठन के लिए सदस्य बनाने की कवायद शुरू

ऋषिकेश,05 दिसंबर। लंबी जद्दोजहद के बाद आखिरकार ऋषिकेश व्यापार महासंघ का विधिवत रूप से शनिवार को गठन हो गया। व्यापारियों की आपसी सहमति के बाद संगठन की नींव पड़ने के बाद सदस्य सदस्यता अभियान भी व्यापारियों ने शुरू कर दिया। इसके साथ ही प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के पदाधिकारियों पर दादा गिरी का आरोप भी लगाया उनका कहना है कि प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के लोग व्यापारियों के हितों को ध्यान में नहीं रखते उनके साथ कंधे से कंधे मिलाकर नहीं खड़े होते हैं। जबकि व्यापारियों के सामने वर्तमान में अतिक्रमण जैसी कई समस्याएं खड़ी हैं, उनकी समस्याएं हल करने के बजाए वह राजनीति पर उतारू है । संयोजक राजीव मोहन अग्रवाल ने कहा कि अब व्यापारियों की सहमति मिलने के बाद ऋषिकेश में व्यापार महासंघ का कठिन हो गया है। ऐसे में संगठन खड़ा करने के लिए सदस्यता अभियान पर जोर देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अभी से शहर में सदस्य जोड़ने का काम शुरू कर दिया गया है। इसके लिए प्रत्येक व्यापारी से ₹50 की शुल्क लिया जाएगा ।साथ ही व्यापारियों ने कहा कि संगठन को महानगर स्तर तक बढ़ाया जाएगा।इस अवसर पर राजीव मोहन,नवल कपूर,सूरज गुल्हाटी,राजेन्द्र सेठी,अजय गर्ग,विनोद अग्रवाल,चन्द्रशेखर जैन,यशपाल पंवार,जयेन्द्र रमोला,राजेश भट्ट,हितेन्द्र पंवार,प्रवीन अग्रवाल,गिरिराज गुप्ता,विवेक वर्मा,दीपक जाटव मदन नागपाल,  अंशुल अरोड़ा आदि मौजूद थे।

Related Articles

Close